Hindi Bible

यहूदा – अध्याय 1

1 यहूदा की ओर से जो यीशु मसीह का दास और याकूब का भाई है, उन बुलाए हुओं के नाम जो परमेश्वर पिता में प्रिय और यीशु मसीह के लिये सुरक्षित हैं॥ 2 दया और शान्ति और प्रेम तुम्हें बहुतायत से प्राप्त होता रहे॥ 3 हे प्रियो, जब मैं तुम्हें…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 16

सुची – यूहन्ना 1 ये बातें मैं ने तुम से इसलिये कहीं कि तुम ठोकर न खाओ।2 वे तुम्हें आराधनालयों में से निकाल देंगे, वरन वह समय आता है, कि जो कोई तुम्हें मार डालेगा वह समझेगा कि मैं परमेश्वर की सेवा करता हूं।3 और यह वे इसलिये करेंगे कि…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 15

सुची – यूहन्ना 1 सच्ची दाखलता मैं हूं; और मेरा पिता किसान है।2 जो डाली मुझ में है, और नहीं फलती, उसे वह काट डालता है, और जो फलती है, उसे वह छांटता है ताकि और फले।3 तुम तो उस वचन के कारण जो मैं ने तुम से कहा है,…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 14

सुची – यूहन्ना 1 तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो।2 मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं।3 और…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 13

सुची – यूहन्ना 1 फसह के पर्व से पहिले जब यीशु ने जान लिया, कि मेरी वह घड़ी आ पहुंची है कि जगत छोड़कर पिता के पास जाऊं, तो अपने लोगों से, जो जगत में थे, जैसा प्रेम वह रखता था, अन्त तक वैसा ही प्रेम रखता रहा।2 और जब…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 12

सुची – यूहन्ना 1 फिर यीशु फतह से छ: दिन पहिले बैतनिय्याह में आया, जहां लाजर था: जिसे यीशु ने मरे हुओं में से जिलाया था।2 वहां उन्होंने उसके लिये भोजन तैयार किया, और मारथा सेवा कर रही थी, और लाजर उन में से एक था, जो उसके साथ भोजन…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 11

सुची – यूहन्ना 1 मरियम और उस की बहिन मारथा के गांव बैतनिय्याह का लाजर नाम एक मनुष्य बीमार था।2 यह वही मरियम थी जिस ने प्रभु पर इत्र डालकर उसके पांवों को अपने बालों से पोंछा था, इसी का भाई लाजर बीमार था।3 सो उस की बहिनों ने उसे…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 10

सुची – यूहन्ना 1 मैं तुम से सच सच कहता हूं, कि जो कोई द्वार से भेड़शाला में प्रवेश नहीं करता, परन्तु और किसी ओर से चढ़ जाता है, वह चोर और डाकू है।2 परन्तु जो द्वार से भीतर प्रवेश करता है वह भेड़ों का चरवाहा है।3 उसके लिये द्वारपाल…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 9

सुची – यूहन्ना 1 फिर जाते हुए उस ने एक मनुष्य को देखा, जो जन्म का अन्धा था।2 और उसके चेलों ने उस से पूछा, हे रब्बी, किस ने पाप किया था कि यह अन्धा जन्मा, इस मनुष्य ने, या उसके माता पिता ने?3 यीशु ने उत्तर दिया, कि न…
Read More

यूहन्ना रचित सुसमाचार – अध्याय 8

सुची – यूहन्ना 1 परन्तु यीशु जैतून के पहाड़ पर गया।2 और भोर को फिर मन्दिर में आया, और सब लोग उसके पास आए; और वह बैठकर उन्हें उपदेश देने लगा।3 तब शास्त्री और फरीसी एक स्त्री को लाए, जो व्यभिचार में पकड़ी गई थी, और उस को बीच में…
Read More

Stay Updated with NewLetter SignUp

अपना ईमेल भरें ताकि नये पोस्ट आप तक सबसे पहले पहुचें
Support Us: GPay; PayTM; PhonePe; 9592485467
Stay Updated with NewLetter SignUp